IND vs SA 2023: तेंदुलकर के लिए अप्राप्य रिकॉर्ड, हिटमैन ने हासिल की दुर्लभ उपलब्धि – जानें

मुंबई: वनडे विश्व कप के फाइनल में हार ने भारतीय क्रिकेट को बड़ी शर्मिंदगी में डाल दिया है। भारतीय टीम अपराजित होकर फाइनल में पहुंची और खिताबी मुकाबले में ऑस्ट्रेलिया से हार गई। इसके बाद हीरो रोहित शर्मा की काफी आलोचना हुई. तब तक रोहित की तारीफ करने वालों समेत कई लोगों ने उन्हें खारिज कर दिया था. अब रोहित ने सीमित ओवरों की टीम से ब्रेक ले लिया है.

तेंदुलकर के लिए अप्राप्य रिकॉर्ड

दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ वनडे और टी20 सीरीज के लिए रोहित शर्मा टीम में नहीं हैं. ऐसे कई लोग हैं जिनकी राय है कि सीमित ओवरों में रोहित का करियर खत्म हो गया है और उन्हें युवा खिलाड़ियों के लिए रास्ता बनाना चाहिए। लेकिन वनडे वर्ल्ड कप में शानदार प्रदर्शन करने वाले हिटमैन अभी कम से कम दो साल और बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे. वनडे में रोहित के नाम कई रिकॉर्ड हैं।

लेकिन उनके नाम कुछ ऐसे रिकॉर्ड भी हैं जिन्हें बहुत से लोग हासिल नहीं कर सकते। ऐसे में जानते हैं रोहित के नाम एक दुर्लभ रिकॉर्ड के बारे में। रोहित शर्मा चार अलग-अलग कैलेंडर वर्षों में 1000 से अधिक वनडे रन बनाने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं। 2013 में भारत द्वारा जीते गए वनडे मैचों में रोहित ने 1016 रन बनाए थे. रोहित ने 2017 में 1128 रन बनाए जबकि हिटमैन ने 2019 में 1046 रन बनाए।

2018 में रोहित अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पाए. हिटमैन ने 2023 में 1073 रन बनाए. रोहित शर्मा चार अलग-अलग सालों में यह उपलब्धि हासिल करने वाले खिलाड़ी बन गए हैं. कहा जा सकता है कि रोहित ने एक ऐसी उपलब्धि हासिल की जो सचिन तेंदुलकर भी हासिल नहीं कर सके. रोहित चार बार यह उपलब्धि हासिल करने वाले एकमात्र खिलाड़ी हैं। उपविजेता विराट कोहली ने यह उपलब्धि तीन बार हासिल की है.

कोहली की ये उपलब्धि 2017, 2019 और 2023 में रही. सौरव गांगुली और रिकी पोंटिंग ने तीन-तीन बार यह उपलब्धि हासिल की है। गांगुली ने यह उपलब्धि 1998, 1999 और 2000 में हासिल की थी। पोंटिंग ने यह उपलब्धि 2003, 2005 और 2007 में हासिल की थी. अगर रोहित शर्मा को भारत की सीमित ओवर टीम से बाहर किया जाता है तो कहा जा सकता है कि नुकसान भारत का ही है.

रोहित को अगले टी20 विश्व कप में भी भारत का नेतृत्व करना चाहिए. रोहित और कोहली ने इस साल भारत के लिए एक भी टी20 मैच नहीं खेला है. लेकिन भारत के लिए यह जरूरी है कि ये दोनों टी20 वर्ल्ड कप खेलें. टी20 वर्ल्ड कप वेस्टइंडीज और अमेरिका में होने वाला है. भारत के युवा खिलाड़ियों को वहां खेलने का ज्यादा अनुभव नहीं है. इसलिए भारत को रोहित जैसे सीनियर खिलाड़ी की जरूरत है.

भारत की योजना हार्दिक पंड्या के नेतृत्व में टी20 विश्व कप खेलने की थी. लेकिन खिलाड़ी के चोटिल होने से भारत की योजना पर पानी फिर गया है. हार्दिक टी20 वर्ल्ड कप से पहले भारतीय टीम में वापसी करेंगे. लेकिन उससे पहले भी भारत को एक उचित कप्तान के नेतृत्व में टी20 विश्व कप की तैयारी करने की जरूरत है. मौजूदा हालात में भारत के सामने दो विकल्प हैं- रोहित शर्मा और सूर्यकुमार यादव.

हीरो के तौर पर सूर्यकुमार के पास अनुभव की कमी एक समस्या है. इसलिए भारत के लिए रोहित को कप्तान बनाकर आगे बढ़ना ही बेहतर है. खबर है कि बीसीसीआई ने रोहित को कप्तान बने रहने के लिए कहा है.

इसको बताने के लिए आप हमारे टेलीग्राम पर आए और वहां पर अपनी राय अवश्य दें.

Leave a Comment